Home जैन स्तोत्र और सूत्र

जैन स्तोत्र और सूत्र

हे भगवन ! आपकी स्तुति करने वाला आपके समान ही बन जाता है. (तुल्या...

श्री भक्तामर स्तोत्र की दसवीं गाथा में "आचार्य" श्री मांगतुंग सूरी का ये श्रद्धा, विश्वास और भक्ति प्रकट हुई है कि -हे भगवन ! आपकी स्तुति करने...

सामायिक एक श्रावक की !

सामायिक एक श्रावक की !सामायिक करते समय क्या श्रावक मोबाइल का प्रयोग करता है? सामायिक करते समय क्या श्रावक बिज़नेस और घर की बात करता...
jag chintamani sutra

श्री जग चिंतामणि सूत्र

जो भी मनुष्य “अष्टापद तीर्थ” की यात्रा खुद के बलबूते (लब्धि) से कर लेता है वह उसी भव में मुक्त हो जाता है” –...

जावंति चेइआइं सूत्र

"जावंति चेइआइं"इस सूत्र को पढ़ने मात्र से सारे जैन तीर्थों को वंदन हो जाते हैं - ब्रह्मांड में कहीं भी स्थित हों.- ये सूत्र...

अभयदयाणं

अभयदयाणंशत्रु का भयमित्र और रिश्तेदारों के रूठने का भयमाता-पिता के अस्वस्थ होने का भयबच्चों के बिगड़ जाने...

काउसग्ग करते समय 1 लोगस्स = 4 नवकार – ऐसा क्यों ?

प्रश्न:काउसग्ग करते समय 1 लोगस्स = 4 नवकारऐसा क्यों?क्या लोगस्स सूत्र,नवकार से 4 गुना बड़ा है?उत्तर:१. कुछ जैनों को नवकार से आगे...

लोगस्स

"लोगस्स सूत्र" में तीर्थंकर के केवली और सिद्ध होने की दोनों बातें क्यों कही गयी है? ***********************************************तीर्थंकर पहले केवली बनते हैं. फिर "धर्म-देशना" देते हैं. फिर...
mati gyan and shrut gyan jainmantras

“मति-ज्ञान” और “श्रुत-ज्ञान”

"मति-ज्ञान" के बिना "श्रुत-ज्ञान" "अधूरा" है और "श्रुत ज्ञान" के बिना "मति-ज्ञान" "अधूरा" है.वर्तमान में ये दो ज्ञान - मति ज्ञान और श्रुत ज्ञान, अभी भी सम्पूर्ण...
dev devi ke mantra kese ho jainmantras

देव-देवी के सूत्र, मंत्र या स्तोत्र कैसे हों?

किसी भी देव-देवी का सूत्र (SUTRA) सबसे छोटा होता है, वही सबसे जल्दी प्रभावशाली होता है. उदाहरण के तौर पर "जं किंचि" सूत्र को ही ले लें. इस...
error: Content is protected !!