अभयदयाणं

  1. शत्रु का भय
  2. मित्र और रिश्तेदारों के रूठने का भय
  3. माता-पिता के अस्वस्थ होने का भय
  4. बच्चों के बिगड़ जाने का भय
  5. मन में बुरे विचार आने का भय
  6. पैसे ना कमा पाने का भय
  7. पैसा डूब जाने का भय
  8. पैसे लुट जाने का भय
  9. धंधा ख़राब हो जाने का भय
  10. सरकार का भय
  11. जेल जाने का भय
  12. किसी से झगड़ा हो जाने का भय
  13. किसी से पिट जाने का भय
  14. प्रतिष्ठा के डूब जाने का भय
    (कलंक लगने का भय)
  15. हाथ से खोटे काम हो जाने का भय
  16. रोगी हो जाने का भय
  17. एक्सीडेंट हो जाने का भय
  18. बेमौत मर जाने का भय

इन सब बातों से छुटकारा: इलाज एक:


रोज नमुत्थुणं सूत्र का पाठ करें/सुनें .
(एक बार ही पढ़ें तो भी पर्याप्त है).

अति विशेष:


अपना मोक्ष भी निश्चित करें.

jainmantras.com

More Stories
शत्रुंजय (पालीताणा) महिमा-2
error: Content is protected !!